सुमित अंतिल ने पैरा ओलंपिक के खेल में, इन्होंने साल 2020 में गोल्ड मेडल हासिल किया आज मैं आपको इनकी जीवनी के बारे में बताने वाला हूं।


सुमित अंतिल का जीवन परिचय

सुमित का जन्म 7 जून 1998 को हरियाणा के सोनीपत के गांव देवड़ा में हुआ था सुमित जब छोटे थे तब भी इनके पिता स्वर्गीय राम कुमार कि किसी बीमारी से मृत्यु हो गई थी।

अब इनकी मां है इनके लिए सब कुछ ठीक इन की मां है जिसका नाम निर्मला है वह इनके साथ चारों बच्चों का पालन पोषण किया।




वैसे तो इन्हें बचपन से ही खेल कूद का काफी शौक था एक बार यह बचपन में ही क्लास से घर आ रहे थे तो इनका एक्सीडेंट हो जाता है और इनका एक पैर पर बुरी तरह चोट लग जाती है जिसके कारण वह पैर किसी काम का नहीं रहता है।

लेकिन उनके खेलने की इस जुनून ने आज इन्हें गोल्ड मेडल जिताया है एक पैर ना होने के बाद भी था अपने हौसले कम नहीं किए बल्कि और भी लगन से मेहनत की और आज वह इस मुकाम पर है।


सुमित ने गोल्ड मैडल कैसे जिता।


सुमित ने फाइनल की शुरुआत ही बड़े धमाकेदार से की वह पहले ही प्रयास में  66.95 की दूरी तक भाला फेका उसके बाद   अपने दूसरे प्रयास में 68.08 मीटर, तीसरे प्रयास में 65.27 मीटर , चौथे प्रयास में 66.71 मीटर का थ्रो किया।  जबकि उनका अंतिम थ्रो फाउल रहा।


सुमित अंतिल कौन सा खेल खेलते है।


सुनीता अंतिल भाला फेंक खेलते हैं और उन्होंने साल 2021 के पैरा एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल की।



अन्य पोस्ट :-

सुधांशू पांडे का जीवन परिचय

Post a Comment

और नया पुराने